Dr Harsh Vardhan Additional Charge Of Environment Ministry - दवे के निधन के  बाद हर्षवर्धन को पर्यावरण मंत्रालाय का अतिरिक्त प्रभार | Patrika News

फाइल फोटो

कोरोना वायरस के मामले में भारत के अच्छे दिन आनेवाले हैं। सरकार द्वार देशवासियों को नये साल में कोरोना वैक्सीन उपलब्ध कराने की चर्चा है। कोरोना संक्रमण पर देश के स्वास्थ्यमंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा है कि भारत में कोरोना महामारी का सबसे बुरा दौर शायद समाप्त हो गया है। उन्होंने उम्मीद जताई है कि जनवरी के किसी भी हफ्ते में भारत में नागरिकों को वैक्सीन देना शुरू किया जा सकता है।

न्यूज 18 में छपी खबर के मुताबिक हर्षवर्धन ने न्यूज एजेंसी से बातचीत में कहा कि भारत में कोरोना वैक्सीन को लेकर तेजी से काम चल रहा है। भारत वैक्सीन तैयार करने और रिसर्च में हमेशा से आगे रहा है। वैक्सीन की सुरक्षा और असर को लेकर वैज्ञानिक कोई समझौता नहीं करना चाहते हैं। हमारे वैज्ञानिक कोरोना वैक्सीन को लेकर बहुत गहराई और गंभीरता से आंकड़ों का अध्ययन कर रहे हैं।

डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना वैक्सीन के डिस्ट्रीब्यूशन को लेकर सरकार पिछले 4 महीनों से राज्यों के साथ टीकाकरण की तैयारियों में लगी हुई है। देश के लोगों को सुरक्षित और सही तरीके से कोरोना का टीका लगाये जाने के लिए 260 जिलों के 20 हजार से अधिक वर्कर्स को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि सरकार की कोशिश होगी कि हमारी प्राथमिकता में शामिल हर व्यक्ति को टीका लगाया जाए, लेकिन कोई इसे नहीं लगवाना चाहे तो उस पर दबाव नहीं डाला जाएगा।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कुछ महीनों पहले तक देश में करीब 10 लाख एक्टिव मामले थे जो अब घटकर 3 लाख के करीब आ चुके हैं। देश में अब तक कोरोना के 1 करोड़ से ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं लेकिन इनमें से 95 लाख से ज्यादा मरीज ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं जो कि देशवासियों और सरकार के लिए राहत की बात है। भारत को रिकवरी रेट दुनिया में सबसे अधिक है इसलिए 10 महीनों से जिस संकट से भारत गुजरा है वो अब खत्म होने जा रहा है ऐसा दिखाई दे रहा है।

 

Source Link: Moneycontrol