दिल्ली: AIIMS और RML अस्पताल में कल से शुरू होगा ऑक्सीजन का प्रोडक्शन, DRDO ने लगाया है प्लांट | Deshi News

देश में चिकित्सकीय ऑक्सीजन की कमी के चलते कई अस्पतालों ने खुद इसका उत्पादन करने का निर्णय लिया है। इसी के तहत राजधानी दिल्ली के एम्स (AIIMS) और आरएमएल (RML) अस्पताल में मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट लगने का काम तेजी से शुरू है जहां कल यानी 6 मई से दोनों प्लांट में ऑक्सीजन का उत्पादन शुरू जायेगा।डीआरडीओ ने ये प्लांट लगाया है। डीआरडीओ ने इस प्लांट को कोयम्बटूर की ट्राईटेंड नाम की कंपनी के साथ मिलकर लगाया है। इस पूरे प्लांट पीएम-केयर फंड से पैसा दिया जा रहा है।

एबीपी न्यूज की खबर के अनुसार एलसीए तेजस की तकनीक पर आधारित इन ऑक्सीजन प्लांट्स से ऑक्सीजन की सप्लाई सीधे मरीजों को की जाएगी। डीआरडीओ के एडिशनल डायरेक्टर, देवेंद्र शर्मा के मुताबिक ये प्लांट 24×7 काम करता है क्योंकि ये प्लांट वायुमंडल में मौजूद वायु से ऑक्सीजन का उत्पादन करते हैं।

ये प्लांट एक मिनट में एक हजार लीटर ऑक्सीजन का प्रोडक्शन करता है। इससे एक दिन में करीब 190 मरीजों को 5 लीटर ऑक्सीजन दिया जा सकता है। डीआरडीओ के मुताबिक इससे एक दिन में 195 सिलिडर्स को रिफिल किया जा सकता है। इन प्लांट्स में प्रेशर स्विंग एडसोर्पशन तकनीक और मोल्कयूलर सीइव (जियोलाइट) टेक्नोलॉजी का उपयोग करके हवा से ही ऑक्सीजन बनाई जाती है।

डीआरडीओ के चेयरमैन के अनुसार एलसीए तेजस लड़ाकू विमान के लिए डीआरडीओ ने मेडिकल ऑक्सीजन प्लांट टेक्नोलॉजी की खोज की थी। जिसमें आसमान में उड़ान भरते वक्त पायलट को ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जाती है। डीआरडीओ ने लेह और उत्तर-पूर्व के राज्यों में इसी तकनीक के आधार पर तैयार किए गए प्लांट्स को स्थापित किया है।

देश में कोविड महामारी के दौरान ऑक्सीजन की किल्लत के कारण डीआरडीओ इस तकनीक को प्राइवेट इंडस्ट्री और सीआईएसआर को सौंप रही हैं जो कि इसके पहले केवल सैन्य मामलों में उपयोग की जाती थी।  

 

Source: MoneyControl