Representative Image

मेडिटेक कंपनी Meril  द्वारा स्वदेशी तकनीकी से निर्मित CoviFind को भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ICMR की ओर से अंतिम मंजूरी मिल गई है. मंजूरी मिलने के बाद कोविफाइंड किट से लोग खुद अपने घर पर कोरोना टेस्ट कर सकते हैं. स्वदेशी तकनीक से निर्मित इस किट के माध्यम से लक्षण वाले व्यक्ति अपने घर पर SARS-CoV-2 की पहचान कर सकते हैं. यानी अगर किसी व्यक्ति में कोरोना के लक्षण हैं तो वह घर पर ही इस किट को मांगा कर अपनी जांच कर सकते हैं. इसके लिए अब बाहर से टेस्ट कराने की आवश्यकता नहीं होगी, अगर टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो व्यक्ति के संपर्क में आए अन्य व्यक्तियों की जांच भी इस किट से की जा सकती है.

15 मिनट में जांच पूरी
CoviFind से जांच करने पर 15 मिनट के अंदर जांच का रिजल्ट आ जाता है. इस किट को रखने के लिए रेफ्रिजेरेटर की जरूरत भी नहीं है. टेस्ट किट की कीम 250 रुपया है और यह सिंगल पैक में किसी भी दवा दुकान में मिल सकती है. एक के अलावा यह किट 3,5 और 25 पैक में भी उपलब्ध होगा. प्रत्येक किट में टेस्टिंग मैटेरियल रहेगा जिनमें एक टेस्टिंग डिवाइस, एक स्ट्राइल नजल स्वैब और कैप के साथ एक बफर ट्यूब  भी रहेगा. किट के अंदर एक लीफफ्लेट होगा जिसमें किट का इस्तेमाल किस तरह से करना है, इसके बारे में जानकारी होगी. सैंपल लेने के बाद से इसे किस तरह ट्यूब में रखेंगे, इसकी स्टेप बाय स्टेप जानकारी होगी. 

कौन कर सकता है इस टेस्ट किट से जांच 
ICMR की नई एडवाइजरी के मुताबिक जिस इंसान में कोरोना के लक्षण है, या जो RT-PCR में कंफर्म पॉजिटिव व्यक्ति के संपर्क में आया है, वहीं इस टेस्ट किट से जांच कर सकता है. होम टेस्टिंग के लिए कम्पनी के सुझाए गए तौर तरीके से ही ये टेस्ट करना होगा. किट में सारी बातों की जानकारी दी गई है. इस टेस्ट के ज़रिए जिन मरीज़ों की रिपोर्ट पॉजिटिव आएगी उन्हें पॉजिटिव माना जायेगा, उन्हें इसके बाद दोबारा किसी टेस्ट की जरूरत नहीं पड़ेगी. जो लोग पॉजिटिव होंगे उन्हें होम आइसोलेशन को लेकर ICMR और हेल्थ मिनिस्ट्री की गाइडलाइन को मानना होगा. इस किट से टेस्ट करने वाले जिन मरीजों का रिजल्ट निगेटिव आएगा उनको RTPCR करवाना होगा.