आज दिल्ली में स्वदेशी जागरण मंच की महिला कार्यविभागद्वारा जो उत्साह उमंग दिखा उसे देखकर कोई भी कहेगा, वाह!! उन पश्चिमी नारी अधिकारवादी संगठनों को सीखना चाहिए कि महिला सम्मेलन कैसे किए जाते हैं कैसे विषय उभारने चाहिए! कैसे महिलाएँ ही इतने बड़े सम्मेलन की व्यवस्था से लेकर संचालन संबोधन सब करती हैं!
अ:भा: महिला प्रमुख ने स्वदेशी की भूमिका बाँधी तो एडवोकेट मोनिका अरोड़ा ने जोशभरे स्वर मे भारतीय नारीशक्ति का महत्व प्रस्तुत किया!सुधा शर्मा,शीलाजी अल्का सैनी वपुनम लूथरा ने भी विचार रखे! डा:अश्वनी महाजन ने चल रहे स्वदेशी विषयों के बारे में बताया तो कश्मीरी लाल जी ने विस्तार से महिलाओ को स्वदेशी प्रचार हेतू करणीय पक्ष के बारे बताया
नारी तू नारायणी…जय हो