मैंने आज बनारस के जयापुर गाँव जो नरेन्द्र मोदी जी का गोद लिया गाँव है, में जाने पर वहाँ के मुखिया निरंजन पटेल से पूछा “ क्या वास्तव में गावं में गत 3 साल में कोई फ़र्क़ आया है?” तो मुखिया बोले “ बहुत आया है! सोलर लाईट लगनें से अब गावं में 20-21घंटे बिजली रहने लगी है जो पहले 5-6 से ज़्यादा नहीं रहती थी! दो बैकं स्टेट बैक व यूनियन बैंक खुल गए हैं! महिलाओं के 12 self help ग्रुप चल रहे हैं! कारपेट बनाने का एक कुटीर उद्योग शुरू कराया है जिससे 150 महिलाओं को नियमित रोजगार मिलने लगा है! स्वास्थ्य केन्द्र तो बहुत अच्छी सुविधा वाला बन गया है!अच्छी पक्की सड़क बन गयी है! साफ़ पानी पीने की बड़ी मशीन काम कर रही है! लगा कि अगर ध्यान दे तो वास्तव में परिवर्तन आ सकता है…
यहं आज स्वदेशी जागरण मंच की ईकाई द्वारा नये वर्ष विक्रमी संवत पर खेती में देसी खाद व पर्यावरण विषय को लेकर तब खादी अब खाद नाम से कार्यक्रम लिया़…स्थानीय भाषा में स्वदेशी गीत गायक राजन तिवारी ने समां बाधां…गावं में स्वदेशी के बारे में अच्छी जागृति है