May be an image of 1 person and standing
दिल्ली में सब ठीक ठाक, स्वदेशी कार्यालय के पीछे वाली मार्केट में लोग खरीददारी करते हुए।
1. भारत में 12 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगाने में 92 दिन लगे, जबकि अमेरिका को 97 दिन, चीन को 108 दिन और इंग्लैंड को 116 दिन लगे।
2. भारत सरकार ने कॉविशिल्ड वैक्सीन बनाने वाले सीरम इंस्टीट्यूट, पुणे को 3000 करोड़ और कोवैक्सीन बनाने वाले भारत बायोटेक को 1567.50 करोड़ रुपए दिए है, ताकि वैक्सीन और अधिक तेजी से बनाई जा सके।
3. भारत में वैक्सीनेशन के तीसरे चरण में 1 मई से 18 साल से ऊपर के सभी लोगों को वैक्सिन दी जाएगी।
4. चेन्नई के एक हॉस्पिटल में शोधकर्ताओं ने एक ऐसे डिवाइस की खोज की है, जो केवल कुछ ही सेकंड में कोरोना का रिजल्ट देता है। अभी तक सबसे प्रभावी आरटी-पीसीआर टेस्ट है, जिससे 6 घंटे का समय लगता है।
5. मध्यप्रदेश में विद्या भारती ने अपने 100 विद्यालय आइसोलेशन वैक्सीनेशन सेंटर बनाने के लिए दिए हैं।
6. टाटा स्टील, सेल और आर्सेलरमित्तल निप्पोन स्टील इंडिया (AMNS इंडिया) ने कोविड के इलाज के लिए ऑक्सीजन की सप्लाई शुरू कर दी है। यह सप्लाई राज्य सरकारों और अस्पतालों को दी जा रही है। रिलायस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) ने कोविड से बुरी तरह जूझ रहे महाराष्ट्र को 100 टन ऑक्सीजन मुफ्त देने का वादा किया है।
7. देशभर में ऑक्सीजन की कमी दूर करने के लिए रेलवे ऑक्सीजन एक्सप्रेस चलाएगी, जिससे देशभर में लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन और ऑक्सीजन सिलेंडर डिलिवर किए जाएंगे। फास्ट सप्लाई के लिए ग्रीन कॉरिडोर भी बनेंगे।