Director Allen Career Institute, Rajesh Maheshwari along with other members  of the group posing for a photograph. - Jammu Kashmir Latest News | Tourism  | Breaking News J&K
कोटा में अभ्यास वर्ग में वरिष्ठ प्रचारक राजेंद्र जी भी सम्मिलित हुए!दिल्ली में आज १०नवंबर को होने वाली दतोपंत व्याख्यान माला जिसमें सरसंघचालक जी का मार्गदर्शन होना है,की तैयारी बैठक को संबोधित करते अपने कश्मीरी लाल जी, डा:अश्वनी महाजन,कमलजीत जी व अन्य! ALLEN इन्सटिच्यूट कोटा चलाने वाले राजेश महेश्वरी व उनके तीन भाई!
…और ऐसे बना भारत का सबसे बड़ा कोचिंग सैन्टर!
मै आज कोटा में हूं! वहां पर हाड़ोती विभाग के 4 जिलों का स्वदेशी कार्यकर्ताओं का अभ्यास वर्ग था!मैंने जब उसमें रोजगार विषय पर कुछ सफल उदाहरण सुनाएं तो वहां के कार्यकर्ता राजेंद्र जी ने मुझसे कहा “सतीश जी! हमारे कोटा का भी एक ऐसा ही सफल उदाहरण है!”
मैंने पूछा “वह कौन है,क्या कहानी है? तो उन्होंने मुझे बताया “यहां कोटा के ही, उनके साथ के ही 4 दोस्त थे! यह बात 1988-89 की है!उन्होंने एमएससी केमिस्ट्री किया! तो तीन दोस्तों संदीप राठौर,शंभू नाथ भट्ट व संदीप सिंह ने सिगमा कोचिंग सेंटर करके एक ट्यूशन केंद्र शुरू किया! वहीं चौथे राजेश महेश्वरी ने 8 बच्चों के साथ एलेन कोचिंग इंस्टीट्यूट शुरू किया!”
“आगे चलकर सिगमा इंस्टीट्यूट अच्छा चल पड़ा! लगभग 300 बच्चे उनके पास हो गए!जबकि राजेश के पास अभी 30-40 ही थे! लेकिन तभी राठौर, शंभू नाथ व संदीप की अलग-अलग जगह पर नौकरी लग गई!उन्होंने वह जॉइन कर ली!इसके कारण से सिगमा इंस्टीट्यूट के बच्चे भी राजेश के पास आ गए! राजेश ने निश्चय किया कि वह कोई नौकरी नहीं करेगा बल्कि यह कोचिंग सेंटर ही जारी रखेगा!”
राजेन्द्र जी बताते रहे “धीरे-धीरे वह इंस्टीट्यूट बढ़ने लगा! मेडिकल की,इंजीनियरिंग की तैयारी राजेश करवाने लग गये और भी लोगों को इसने अपने इंस्टिट्यूट में नौकरी(शिक्षक) के नाते रख लिया!बीच बीच में कुछ कठिनाइयां आईं! पर वह डटा रहा उसने अपने भाई जिसने इंजीनियरिंग किया था उसको भी कहा ‘नौकरी नहीं करनी!हम यही कोचिंग सेंटर विकसित करेंगे! शेष दोनों भाईयों ने भी वही किया, और चारों भाई लग गए!”
और “we will not be job seeker,we will be job provider’ के आधार पर उन्होंने अपना काम जारी रखा!और आज वह एलेन कोचिंग इंस्टीट्यूट कोटा, भारत का सबसे बड़ा कोचिंग इंस्टीट्यूट है! उस में 1लाख50000 बच्चे कोचिंग ले रहे हैं! उनके पास कुल मिलाकर 6800 शिक्षक व अन्य कर्मचारी नौकरी प्राप्त कर रहे हैं! देश और दुनिया में हजारों डॉक्टर,इंजीनियर आज इसकी देन है!”
लिम्का बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड ने उन्हें ‘भारत के सबसे बड़े कोचिंग इन्सटिच्यूट’ के नाते दर्ज किया है!
यह सुनकर मैंने उन्हें बधाई भी दी और बाद में पता चला कि राजेश महेश्वरी जी ने 2 वर्ष पूर्व भारत विकास परिषद के अस्पताल के लिए 10 करोड़ ₹भी दान दिया है! स्वभाविक रूप से वे कोटा के सबसे बड़े टैक्स दाता भी हैं!बच्चों को संस्कारित रखने का भी प्रयास वे हमेशा करते रहते हैं!..जय हो!