स्वयंसेवक नवीनजी व उनकी गुड़िया नविका के साथ!
भारत ने अन्तर्राष्ट्रीय पर्यटन केन्द्र के नाते से तेजी से प्रगति की है! गत सप्ताह आयी world Travel n Tourism council की रिपोर्ट के अनुसार भारत अब 200 देशों की सूची में 24वें स्थान पर आ गया है!
इस वर्ष भारत में टूरिज्म उद्योग 210 अरब डालर के रिकार्ड स्तर पर पहुंच गया है! इतना ही नहीं 2028 तक इसके 450 अरब डालर तक पहुंचने की संभावना है! क्योंकि भारत में इसकी वृद्धि 6.9% वार्षिक है जो दुनिया में दूसरे क्रमांक पर है!
इसके कारण से टैक्सटाईल इन्डस्ट्री के बाद सबसे अधिक रोजगार निकल रहा है! इस वर्ष 4.16करोड़ लोग इसके कारण ही रोजगार पा रहे हैं! यदि भारत पूरी तरह से इस पर ध्यान दे तो 2028 तक 8 करोड़ लोग इसमें से ही नियमित व अच्छा रोजगार कमा लेंगे!
भारतीय लोग भी तेजी से पर्यटन प्रेमी हो रहे हैं!2015 मे जहां 2 करोड़ लोगों ने विदेश यात्रा की वहीं 2020 में 5 करोड़ करेंगें! घरेलू पर्यटन तो और भी तेजी से बड़ रहा है!
भारत में तेजी से विकसीत होती सड़कें,रेल व वायुयान सेवाओं के अलावा स्वच्छता मिशन में मिल रही सफलता के कारण भी भारत में पर्यटन उद्योग में इतनी तेजी आयी है!
आज जब मैं कोटा से जयपुर जा रहा था तो गाड़ी में एक स्वयंसेवक परिवार में मिला जिसकी एक प्यारी सी बेटी मिली नविका! उसने बताया कि कल संचलन था जिसमें उसके दादाजी भी शामिल हुए थे,उसमें मां के साथ उसने पुष्प वर्षा की थी! तब मैने उसको गीत याद करवाया…देश हमें देता है सबकुछ हम भी तो कुछ देना सीखें…पूरा गीत उसने एक घंटे में ही याद कर लिया! मुझे संतुष्टि हुई कि आज की शाखा का काम पूरा हुआ!