परमबंधु इमरान खान जी।
सादर नमस्ते।
पाकिस्तान में गत जुलाई में हुए चुनावों में आप विजयी हुए और प्रधानमंत्री बने!बहुत-2बधाई!
आपको मैंने परमबंधु इसलिए भी लिखा की हो तो आप भी भारतमाता की संतान ही!
आपके पिताजी पंजाब के इस हिस्से(भारत के जालंधर) के हैं और मेरे पिताजी पंजाब के उस हिस्से (पाकिस्तान-लैय्या मुल्तान)के हैं!यानी हम दोनों भारत के पंजाबी भाई हैं!
भारत-पाकिस्तान के लिए यह ऐतिहासिक मौका है!तुम भी एक भ्रष्ट व्यवस्था व राजनीतिक दलों को चुनौती देते हुए आए हो और यहां भी मोदी,ऐसे ही उभरे हैं।
लेकिन मैं दो विषयों पर आपको सजग करना चाहता हूं!पहला है चीन।
बढ़ते ड्रैगन से भारतीय बाजार और सीमा को जो खतरा है,उसके विरुद्ध भारत को तो स्वदेशी जागरण मंच गत कुछ वर्षों से जागृत कर रहा है।
हम डोकलाम पर भी अड़े, व उसके बढ़ते व्यापार घाटे को,रोकने को भी कटिबद्ध हैं।
पर क्या आप पाकिस्तान,जिसे चीन अपनी कॉलोनी बनाने पर तुला है,रोकने को तैयार हो,कटिबद्ध हो?
मेरे और आपके पूर्वजों ने लड़कर सैकड़ों वर्षो बाद अंग्रेजों से अपने इस देश को आजाद कराया!इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उसके उस हिस्से पर तुम राज करो और इस हिस्से पर मोदी!पर इससे फर्क जरूर पड़ता है यदि चाइनीज पाकिस्तान को अपनी कॉलोनी बना लें।
ग्वादर शहर में पांच लाख चीनियों को बसाने की योजना और $50अरब से चीन, पाकिस्तान में सड़क बांध,बिजली घर की सीपीईसी योजना चला रहा है। इससे पाकिस्तान के चीन के चंगुल में जाने का सीधा खतरा पैदा हो गया है।
इमरान खान!सौगंध तुम्हें,तुम्हारे पूर्वजों की!पाकिस्तान को चीनियों के चंगुल में मत जाने देना!
दूसरा विषय:पाकिस्तान के अब तक के हुक्मरानों ने भारत से नफरत के अलावा कुछ नहीं किया! जिससे पाकिस्तान में आतंकवादियों की एक ऐसी जमात पैदा हो रही है जो भारत के लिए तो परेशानी है ही,किंतु उसने पाकिस्तान को भी सारी दुनिया में आतंकी देश का दर्जा दिलवा दिया है!
यहां तो मोदी ने भारत की छवि को दुनिया भर में निखार दिया है!पाकिस्तान की छवि उभारने के लिए तुम्हें आतंकियों को सीधे काबू करना होगा!हमारा तीसरा हिस्सा बांग्लादेश आज यही कर (आतंक को काबू कर वा अपनी अर्थव्यवस्था अपने बलबूते मजबूत कर) एक अच्छे समृद्ध व राष्ट्र के रूप में उभर रहा है!
अतः आप हिम्मत करो!आप एक अच्छे क्रिकेटर व ईमानदार नेता हो!फैसला तुम्हारे हाथ में है!
तुम पाकिस्तान के मोदी बनो या पहले वालों की तरह बोने नेता!
यदि चीन व आतंकवादियों से पाकिस्तान को बचाकर समृद्धि व रोजगार की राह पर डालते हो तो सारा पाकिस्तान ही नहीं भारत भी तुम्हारा साथ देगा! अन्यथा तो….
आप बड़े भाई हो!पाकिस्तान के मुखिया हो!इस छोटे भाई का आग्रह अवश्य ध्यान रखोगे!
मुझे पूरा विश्वास है कि हम सब मिलकर अपने पूर्ण देश (भारत+पाकिस्तान+बंगलादेश)की सेवा कर अपने जीवन को धन्य बना सकेंगे। लेकिन अगर आपने यह विश्वास तोड़ा तो यह भी याद रखना! तब हमारे कोप का भाजन बनोगे|अधर्म पर चलने पर तो हम भाइयों को भी नहीं छोड़ते, फिर आप तो…।
हमें बाबर और (मुहम्मद)गौरिओं से निपटना भी अच्छी तरह आता है|!..प्रणाम।