Chhavi Rajawat (@VillageSoda) | Twitter
पुणे के इंडियन इंस्टिट्यूट आफ मॉडर्न मैनजमेंट से MBA की डिग्री प्राप्त करने वाली छवि रजावत ने कई कारपोरेट कंपनियों में काम करने के बाद अपने पैतृक गाँव सोड़ा में अपने लोगो की सेवा करने का निर्णय लिया.
गांव आकर न केवल खेती की संभाल की बल्कि वहां के युवक युवतियों को संगठित कर ग्राम विकास हेतू भी प्रेरित किया! और जब सरपंची के चुनाव आए तो सबके आग्रह पर चुनाव भी लड़ी!
4 फरवरी 2011 में अपने निकटतम प्रितिद्विंदी को रिकॉर्ड 1200 मतों से हराकर छवि भारत की सबसे कम उम्र की और शायद एकमात्र MBAसरपंच है.
सरपंच बनने के बाद उन्होंने कहा मैं केवल गाँव वालों की सेवा करने के उद्देश्य से आई हूँ! जयपुर से 60 KM दूर टोक जिला के छोटे से गाँव सोड़ा की सरपंच छवि निरंतर गाँव के उत्थान कार्यों में लगी है.
छवि नवम्बर 2013 से स्थापित भारतीय महिला बैंक की डायरेक्टर भी है. उन्होंने गाँव में पहला बैंक SBI खुलवाया.
गाँव में वाटर हार्वेस्टिंग कार्यक्रम चला रही है. मनरेगा के अंतर्गत चलाए जा रहे सभी योजनाओं को क्रियान्वित करने का प्रयास कर रही हैं!
स्व: राष्ट्रपति अब्दुल कलाम द्वारा TECHNOLOGY DAY पर सम्मानित की गई थी. IBN LIVE ने उन्हें YOUNG INDIAN LEADER से सम्मानित किया. THINK GLOBAL AND ACT LOCAL को उन्होंने जीवन में पूर्ण सिद्ध किया है!
~ज्योत्सना – ‘स्वदेशी-चिट्ठी’
——————————–
~आज का विचार
देश की सेना में किसी विदेशी को स्थान देना आंतरिक व बाह्य सुरक्षा के लिए जिस तरह घातक होता है, वैसे ही किसी भी विदेशी कंपनी को अर्थव्यवस्था में स्थान मिलने से वह हमारे देश के आर्थिक चक्र के लिए दमनकारी होता है।