अमेज़ॉन व वालमार्ट के दिन लदे, आम दुकानदार, व छोटे उद्योगों के लिए,आया अपना ईकॉमर्स प्लेटफार्म ONDC
कल दिल्ली के स्वदेशी कार्यालय में भोजन के समय चर्चा निकली की देश के बड़े बैंकों के सहयोग से जो नया ईकॉमर्स प्लेटफार्म(Open Network Digital commerce) अप्रेल में शुरु होने जा रहा है वह बहुराष्ट्रीय कंपनियों को कितनी चुनोती दे पाएगा?
मैंने कहा” “मुझे तो लगता है जैसे पेमेंट गेटवे में सरकारी UPI ने सभी विदेशी देशी कंपनियों को पीछे छोड़कर बढत बनाई है, वैसे ही अब ईकॉमर्स में भी होगा।गत 8-10सालों से जो दो विदेशी कंपनियों ने हमारे विशाल रिटेल बाज़ार में सेंधमारी कर छोटे दुकानदारों, उद्योगों को परेशान कर रखा था,अब वे अपने उत्पादों,सामानों को इस नई टेक्नोलॉजी के माध्यम से स्वयं बेच सकेंगे।”
कश्मीरी लाल जी ने कहा “लगता है, यह तो हमारे रिटेल बाज़ार की बड़ी जीत है?”
तब अश्विनी महाजन जी बोले “इसका पूरा लाभ तभी होगा जब अमेजॉन, वालमार्ट को भारी छूट(cash burning) से रोका जाएगा।”
तो मैंने कहा “डॉ साहेब अब आप पार्टी देने से बचने के लिए, लेकिन परंतु न करिये।हमारे लोगों के व्यापार की नई बढ़िया सड़क बन गई है..ONDC…अभी तो पार्टी शुरू हुई है।अपने करोड़ो लोगों के रोजगार को हम बचाने में सफल होते दिख रहे हैं।जय स्वदेशी.”~सतीश कुमार
नीचे:गत दिनों सहसरकार्यवाह डॉ कृष्ण गोपाल जी के साथ स्वावलंबी भारत अभियान के एक संरक्षक श्री नरेन्द्र जाधव जी(राज्यसभा)जी को हम मिले तो उन्हें अभियान की पुस्तिका ‘पुनः बनाएं भारत अभियान’ भेंट की.