केरल से प्रारंभ हुआ स्वावलम्बी भारत अभियान….
वैसे मेरा 11 तारीख को कन्याकुमारी से अखिल भारतीय प्रवास तय था। किन्तु कोरोना के कारण उसे बदलकर तरंग माध्यम से ही करना तय हुआ।
तो आज केरल के आर्थिक समूह के संगठनों जैसे मज़दूर संघ, किसान संघ, लघु उद्योग भारती, ग्राहक पंचायत, सहकार भारती के अतिरिक्त विद्यार्थी परिषद, राजनैतिक क्षेत्र व सेवा भारती के 40 कार्यकर्ता इस अभियान की प्रथम बैठक में उपस्थित थे।
केरल की बेरोजगारी की समस्या व उसके समाधान हेतु लगभग 1 घण्टे चर्चा हुई। फिर मैंने उन्हें स्वावलम्बी भारत अभियान के माध्यम से कैसे केरल को पूर्ण रोजगार युक्त करना है,इस विषय पर मार्ग सुझाए। वे सभी उत्साह में थे। और भारत को 0% गरीबी रेखा, 100% रोजगार युक्त युवा और 10 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था भारत (पर्यावरण संरक्षण के साथ) बनाने का संकल्प भी प्रकट किया।
बैठक का संचालन रंजीत कार्तिकेन व सह समन्वयक जितेंद्र गुप्त जी ने किया। अन्त में कश्मीरी लाल जी व सुंदरम जी का भी प्रेरक मार्गदर्शन सबकों मिला।
(नीचे: केरल में रोजगार सृजन पर आर्थिक समूह के कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करते हुए सुंदरम जी)