अभिनंदन
!रुपए की कीमत बचाने का उत्तम आइडिया!
इन दिनों में सारा देश चिंतित है कि रुपया प्रति डॉलर ₹80 के निकट पहुंच रहा है।वैसे यह वैश्विक परिदृश्य को देखते हुए बहुत बड़ी चिंता का कारण भी नहीं है।क्योंकि चीन की करेंसी 7%,रूस की 9% जर्मनी की 6% सहित सब करेंसियो पर दबाव है।भारत की 6.4% गिरावट है।
फिर भी रिजर्व बैंक ने जो पहल की है वह

अभिनंदन

के योग्य है।उन्होंने रूस सहित अनेक देशों से अब व्यापार रुपए में ही करने की एक विस्तृत योजना पेश की है।इसके कारण से वार्षिक 36 अरब डालर तक की डॉलर मुद्रा बच सकेगी इससे हमारे विदेशी मुद्रा भंडार पर अच्छा असर पड़ेगा।रुपए की वैल्यू डाउन होने से बचेगी। Bank of Baroda के चेयरमैन मदन जी ने इसका स्वागत किया है।

ऐसे ही एक दूसरे प्रयास में भारत सरकार ने रूस के बाद ईरान से भी सस्ते तेल लेने की तैयारी कर ली है इससे भी काफी डॉलर बचेंगे।IMF ने भी भारत के विदेशी मुद्रा भंडार को,जो आगामी 10 मास के लिए काफ़ी है,को सुरक्षित स्थिति में बताया है।~सतीश
नीचे: चित्र में गत दिनों mysba.co.in जो स्वाबलंबी भारत अभियान का डिजीटल प्लेटफार्म है,उसकी टीम की दिनभर की बैठक दिल्ली में संस्कार भारती के कार्यालय में संपन्न हुई।