प्रेरक प्रसंग उद्योग/व्यापार

Homeप्रेरक प्रसंग उद्योग/व्यापार

छत पर ऑर्नामेंटल पौधे उगाकर हर महीने 30,000 रुपये कमातीं हैं यह गृहिणी

जब भी बात खेती की होती है तो ज़्यादातर लोगों

छत्तीसगढ़ के 9वीं पास लड़के ने खुद के लिए डिजाइन की बाइक, कबाड़ से लगाया जुगाड़

कहते हैं हुनर और जुनून हो तो कामयाबी मिलने से

साल 2010 में हुई थी एक छोटी शुरुआत, आज 500 शहरों तक फैल चुका है 11 हजार करोड़ का साम्राज्य!

भारत में तीन सबसे बड़ी ई-कॉमर्स पोर्टल फ्लिपकार्ट, स्नैपडील और

16 की उम्र में की थी शुरुआत, आज यह लड़की 20 से ज्यादा बैंकों के लिए कर रही है लोन की वसूली

वसूली शब्द का अर्थ होता है पैसे की वसूली। यह

सीए की पढ़ाई छोड़ शुरू किया अनूठा स्टार्टअप, किसानों को दे रहे आमदनी दोगुनी करने की टिप्स

त्याग और तपस्या का दूसरा नाम है किसान। किसान जीवन

शून्य से 50 करोड़ की कंपनी बना कर उन्होंने साबित कर दिखाया सफलता अभावों की मोहताज़ नहीं होती

हर कामयाब शख़्स ने कभी न कभी बुरा वक़्त तो

नौकरी छोड़ चाय बेचकर करोड़ों का साम्राज्य बनाने वाले इंजीनियर की कहानी!

एक दौर था जब किसी से पूछा जाता था कि

कभी दिल्ली आने के लिए थे 500 रुपये उधार, आज हैं पांच कंपनियों की मालकिन!

आसमान की ऊंचाइयों को छूने के लिए, पंखों की नहीं

कपड़ो का फैमिली बिज़नेस छोड़ कर शुरू की चिप्स बनाने की कंपनी, आज हैं करोड़ों के मालिक!

चाय के साथ हो, यात्रा में हो, फिल्म देखते समय

अपने शौंक को आगे बढ़ाकर घर की रसोई से शुरू किया बिज़नेस, आज अन्य देशों में भी कर रहे फ़ूड प्रोडक्ट्स का निर्यात!

मेघालय के शिलांग में पोह्क्सेह की रहने वाली कोंग फिकारालिन

Go to Top