सामाजिक क्रांतिकारी : स्वातंत्र्यवीर विनायक दा. सावरकर

File Photo

विदेशी सामान के बहिष्कार की भावना शहर, देहात के मोहल्लों और गांवों में जागृत होने लगी है। जिस दिन हम स्वदेश निर्मित सामानों पर निर्भर हो जाएंगे, उस दिन देश में बेरोजगारी दम तोड़ देगी। यह बातें स्वदेशी जागरण मंच के राष्ट्रीय संगठन श्री कश्मीरी लाल ने कही। वह जलनिगम रोड रौजा स्थित लहुरी काशी पैलैस (गाजीपुर) में 01 दिसम्बर को स्वदेशी जागरण मंच द्वारा आयोजित दत्तोपंत ठेंगड़ी जन्मशताब्दी वर्ष के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे।

उन्होंने कहा कि दत्तोपंत ठेगड़ी का स्वदेशी के प्रति किया गया संघर्ष और सपना देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में साकार होने की ओर अग्रसर है। कहा कि दूध दही थाली में, पेप्सी कोला नाली में तथा चीन का माल – ना भाई ना। विदेशी कंपनियां अपने उत्पाद के माध्यम से देश का धन अपने देश में ले जा रही हैं, इसे हमें रोकना है। दत्तोपंत के व्यक्तित्व पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि भारतीय मजदूर संघ तथा स्वदेशी जागरण मंच की स्थापना के साथ-साथ ऐसे ही लगभग 15 विशाल संगठनों के सृजन में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही। क्षेत्रीय संगठन अजय कुमार ने कहा कि भारत की सीमा में जो भी ताकतें विदेशी आर्थिक साम्राज्य फैलाने की ओर कदम बढ़ाने का काम करती हैं, उसका पुरजोर विरोध करके हमें उसे रोकने का काम करना है। इसमें बहुत बड़ी सफलता भी इस बार के दीपावली त्यौहार पर देखने को मिली है। भारतीय जनता पार्टी के क्षेत्रीय उपाध्यक्ष बिहारी राय ने जनपद की ओर से भरोसा और विश्वास देते हुए कहा कि गाजीपुर सदैव से राष्ट्रवाद के प्रति अग्रणी भूमिका का निष्ठा से निर्वहन किया है और आगे भी अग्रसर रहकर इस आंदोलन को सहयोग प्रदान करेगा। कार्यक्रम का शुभारंभ भारत माता, पंडित दीनदयाल उपाध्याय एवं दत्तोपंत ठेंगड़ी के चित्र पर पुष्पांजलि तथा दीप प्रज्ज्वलित करके हुआ। अध्यक्षता जिला संयोजक नरेंद्र नाथ सिंह ने तथा संचालन डा. व्यासमुनि राय ने किया। इसमें मयंक शेखर उपाध्याय, श्यामराज तिवारी, डा. धनंजय सिंह, भाजपा मीडिया प्रभारी शशिकांत शर्मा, सतीश जी, सर्वजीत सिंह, मनोज सिंह, जितेंद्र शर्मा, अभिनव सिंह, गोरखनाथ सिंह सहित आदि अन्य लोग उपस्थित थे।