शहर के स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने यूट्यूब से सीखकर पीपीई किट तैयार कर दिए। बाजार में 450 से 600 रुपए के बीच आने वाले ये किट महिलाओं ने सिर्फ 320 रुपए में तैयार कर दिए। इसके अलावा महिलाओं ने ओटी गाउन, डाक्टर्स गाउन व कोट, नर्स गाउन, फुल मास्क कैप, भी तैयार किए हैं। ऐसा करने वाला काेटा प्रदेश में पहला शहर है। 

निगम आयुक्त वासुदेव मालावत ने बताया कि एनयूएलएम के स्वयं सहायता समूहाें से जुड़ी महिलाओं ने पीपीई किट तैयार किए हैं। हैंडमेड फेस मास्क बनाने में कोटा जिला राज्य का पहले से ही नंबर-1 पर चल रहा है। 

45 मिनट में तैयार हाे जाता है किट
मैनेजर डॉ. हेमलता गांधी गांधी ने बताया कि इसे बनाने में केवल तकनीक और सुरक्षा का ध्यान रखना हाेता है। इसके लिए हमने सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी काे भी पढ़ा। पहले 75 जीएसएम के कपड़े का बना रहे थे, जाे कमजाेर था। अब 90 जीएसएम के कपड़े का बना रहे हैं। एक पीपीई किट मात्र 45 मिनट में तैयार हाे जाता है।

 

Source: Dainik Bhaskar