No photo description available. 

Image may contain: 1 person, standing and indoor

कल का झुग्गी का एक दृश्य और रतन टाटा।

ओह! अदभुत! आश्चर्यजनक! दुनिया में शायद ही ऐसी घटना हुई हो की 136 करोड़ लोगों ने एक साथ दिए मोमबत्ती जलाकर अपनी एकता का परिचय दिया हो। महामारी से जूझते अपने समाज में एकता व उत्साह का संचार करने के लिए ऐसी योजना, जिसमें झुग्गी झोपड़ी से लेकर सर्वोच्च उद्योगपति रतन टाटा व मुकेश अंबानी तक, फिल्मी कलाकारों अनुपम खेर, अनिल कपूर से लेकर क्रिकेट के खिलाड़ियों तेंदुलकर व गांगुली तक सब लगे थे।

सोचने की बात है कि क्या दुनिया में और किसी के पास ऐसे बड़े व महान विचार व उनको क्रियान्वयन कर दिखाने का दम है?
अभी जो कोविड-19 की लड़ाई चल रही है उसे देखते हुए तो लग रहा है कि भारत ही सबसे दमदार लड़ाई लड़ रहा है। क्योंकि भारत के नेतृत्व के पास ही ऐसे दमदार विचार हैं।

भारत विजयी होगा ही, क्योंकि जब नीमच(राजस्थान) में 9 और 11 साल के दो बच्चे अपनी गुल्लक तोड़कर ₹800 पीएम केयर फंड में जमा कराने वहां के थाने पहुंच जाते हों, और टाटा ग्रुप ने पंद्रह सौ करोड रुपए देने में भी विनम्रता दिखाई हो तो ऐसा एकजुट भारत विजयी कैसे नहीं होगा?….जय हो!