नीचे: कुछ विशिष्ट चित्र दिए गए हैं स्वदेशी चिट्ठी के पाठकों के लिए। जिनमें आम कार्यकर्ता, संतगण, वाइस चांसलर, राज्यपाल, केंद्रीय मंत्री सब शामिल है। आप भी देखिए

Image may contain: 1 person

Image may contain: one or more people, screen and indoor

Image may contain: 1 person, phone, text that says "स्वदेशी स्वावलंबन अभियान Swadeshi Swavl ban Abhiyan"

Image may contain: 1 person, sitting and glasses

Image may contain: 1 person, phone and glasses

Image may contain: 2 people, text that says "स्वदेशी जागरण मंच आज महाराष्ट्र के महामहिम राज्यपाल श्री भगत सिंह कोश्यारी जी नें भी स्वदेशी स्वावलम्बन अभियान में हिस्सा लेकर लाखों कार्यकर्ताओं का मार्गदर्शन किया जय जय स्वदेशी"

लॉकडाउन धीरे धीरे खुल रहा है। किंतु गतिविधियां सामान्य होने में समय लगेगा। करोना महामारी अभी चल ही रही है। किंतु इस बीच भी स्वदेशी की लहर जारी है। और भारत को स्वावलंबी, आत्मनिर्भर बनाने के चल रहे अभियान में अभी तक 1,70,000 लोग अपने फोन से हस्ताक्षर कर चुके हैं।
नागपुर के अजय जी ने बताया उनका छोटा नाती, वह अपने नाना के पास (उन्हीं के) आना चाहता था। किंतु नाना ने यह शर्त रख दी कि तुम हमारे परिवार के छोटे बड़े सब के हस्ताक्षर अगर करवाओगे तो फिर तुम्हें लेने आऊंगा और उसने 4 घंटे में 63 हस्ताक्षर करवाए, फिर नाना के घर पहुंच गया।

बिहार की झुग्गी झोपड़ियां हों, अथवा दिल्ली के कोई संपन्न इलाके, सारे देश के सभी 28 प्रांतों और 8 केंद्र शासित प्रदेशों में अभियान तेजी से चल रहा है। देश के 736 कुल जिले हैं उनमें से 650 जिलों में हस्ताक्षर अभियान चल रहा है।
कोई, कहीं बैठकों के लिए गया नहीं, और लाखों लोगों ने कार्यक्रम में सहभाग कर लिया है। टेक्नोलॉजी का सबसे उत्तम उपयोग स्वदेशी कर रहा है।
~सतीश कुमार