Image may contain: 1 person, glasses

Image may contain: 3 people, people standing

Image may contain: 1 person

Image may contain: 1 person

1. चमोली (उत्तराखंड) की रहने वाली 60 वर्षीय बहन देवकी भंडारी ने अपनी व अपने पति की जीवन भर की जमा पूंजी 10 लाख रुपए पीएम केयर्स फंड में दान कर दी। स्वयं बीमार रहते हुए भी, उन्होंने एक बेटे को गोद लिया है, और उसे बीटेक की पढ़ाई करवा रहीं हैं।

2. ऐसे होते है देश के सच्चे सिपाही! 76 वर्षीय राम अवतार सिंह यूपी के घाटमपुर के रहने वाले है। सिपाही के पद से 2004 में सेवानिवृत्ति होने के बाद उन्होंने जमा की गई पेंशन राशि 1 लाख रुपए कोरोना युद्ध में सरकार की सहायता के लिए राहत कोष में दान दे कर दिए।

3. “आज देश के लोग बचने चाहिए, ट्रॉफी तो फिर आ जाएंगी”! गोल्फर अर्जुन भाटी ने पिछले आठ सालों में जीती अपनी सारी ट्रॉफी और मेडल बेच कर 4 लाख 30 हजार रूपए जुटाए और पीएम केयर्स फंड में दान दे दिए।

4. आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में रहने वाले 4 वर्षीय नन्हे हेमंत ने अपनी साइकिल के लिए बड़े जतन करके कुल 971 रुपए बचाए थे। लेकिन कोरोना के विरूद्ध जंग में उसने ये राशि मुख्यमंत्री राहत कोष में दान दे दी।

~ स्वदेशी एजुकेटर की कलम से।