Image may contain: 1 person, close-up

Image may contain: one or more people and people standing

दिवंगत हीरो डॉक्टर ली वेनलियांग व एक मरीज को ले जाते हुए डॉक्टर व हेल्थ वर्कर

“स्वदेशी प्रेमी बहनों एवं भाइयों!”
“आप सब ने समाचारों में सुन ही लिया होगा कि चीन में करोना वायरस का कहर जारी है। इस जानलेवा वायरस ने अभी तक 904 लोगों की जान वहां लील ली है। 40,000 संक्रमित होकर अस्पतालों में हैं। रोगियों की संख्या रोज बढ़ रही है…ऊं।

जो हजारों डॉक्टर, नर्सें व हेल्थ वर्कर रोगियों के उपचार में लगे हैं,उनको हमारा बहुत-बहुत अभिवादन,शाबाशी।”
वास्तव में,आपको बताऊं? मैं 3 दिन पूर्व रात को काफी रोया जब मैंने खबर पढ़ी,कि इस केरौना वायरस के बारे में सबसे पहले जानकारी देने वाले डॉक्टर ली वेनलियांग की रोगियों का उपचार व सेवा करते हुए अंततः मृत्यु हो गई है।

गुस्सा इस बात का है कि वहां की सरकार ने उस डॉक्टर के ऊपर FIR लगा दी थी कि वह ऐसी खबर क्यों फैला रहा है? पर चीन सरकार पर गुस्सा बाद में…अभी तो हमें उन हजारों लोगों से सहानुभूति है,जो बीमार पड़े हैं। और जरूरत है उन डॉक्टरों,नर्सों को नैतिक समर्थन व शाबासी देने की। जो इस कठिन घड़ी में अपनी जान दांव पर लगाकर भी, रोगियों की सेवा उपचार में लगे हैं। हम तो यही कर सकते हैं।”

जब मेरी आज एक कार्यकर्ता से इस विषय में बात हुई तो वह कहने लगा “हम तो चीनियों का बहिष्कार कर रहे हैं,हमें क्या?”
मैंने कहा “नहीं! हम चीन की कंपनियों व सरकार का बहिष्कार कर रहे हैं, वह जारी रखेंगे। पर मानवता की गरिमा ही हिन्दुत्व का संदेश है। उसे हम कभी खाएंगे नहीं।सर्वे भवन्तु सुखिनः, सर्वे सन्तु निरामयाः…”
आप भी नीचे वाल पर Om shanti या ‘हम आपके साथ’ लिखकर,अनोखी पर भीषण लडाई लड़ रहे चीनी नागरिकों को अपना समर्थन संदेश भेज सकते हैं।…

आपका~सतीश कुमार