Image may contain: 5 people, people smiling, people standing

पुणे बैठक के बाद कार्यकर्ताओं के साथ अनौपचारिक बातचीत

एक चिट्ठी स्वदेशी प्रेमियों के नाम!
परम बंधुवर/भगिनी!
सादर प्रणाम।पुणे में गत दिनों हुई स्वदेशी जागरण मंच की बैठक में ‘भारत को भारत कहो,इंडिया नहीं’ का प्रस्ताव पारित हुआ है।अनेक बंधुओं से चर्चा के बाद यह मत बना कि आपके भी सुझाव लिए जाएं।

आपका क्या मत है?कृपया सर्वेक्षण का उत्तर दें।
अपने देश को ‘भारत’ ही कहना चाहिए……A
अंग्रेजों का दिया,इंडिया भी चल सकता है…B
क्या फर्क पड़ता है,यह कोई मुद्दा नहीं है…..C

दूसरी बात। ‘भारत’ शब्द की समाज व सरकार में मान्यता हो जाए,इसके लिए प्रबल जनजागरण करने हेतु क्या क्या उपाय किए जा सकते हैं?
कृपया,अपना उत्तर नीचे लिख दें।