70% companies subjected to cyber threat: Trishneet Arora, CEO, TAC Security
आज अचानक मेरे ध्यान में आयी त्रिशनित की सफल कहानी!
आप सुनकर हैरान हो जाएंगे कि लुधियाना का रहने वाला एक ऐसा लड़का जो आठवीं कक्षा में फेल हो गया,आज इतनी बड़ी कंपनी का मालिक हो गया है!
वह आठवीं में जब फेल हो गया तो स्वभाविक रुप से अध्यापकों ने व माता-पिता ने बहुत डांटा!किंतु बाद में माता-पिता ने सपोर्ट किया और उसकी रुचि पूछी!
उसने कहा कंप्यूटर मिल जाए तो मैं अपना जीवन बना लूंगा!और उसके पिताजी ने उसे एक कंप्यूटर ले दिया! बस,फिर क्या था? और वह उस कंप्यूटर पर दिन-रात लगा रहा!अलग अलग ऐपस का गहराई से अध्धयन किया!
कैसे हैकिंग करते हैं?कैसे पासवर्ड बनाते बदलते वा तोड़ते हैं?फिर किसी ने उसको बताया कि यदि एंटी हैकिंग करें तो उस में कमाई अच्छी होती है!
तो पहले पंजाब पुलिस ने,बाद में गुजरात पुलिस ने,फिर सीबीआई ने एंटी हैकिंग के लिए उसको साइन किया!
और धीरे-धीरे आज उसने एक TSC सिक्योरिटी कंपनी खोली है!मुंबई में एक ऑफिस बनाया है और मात्र 28 वर्ष की उम्र में वह 2000 करोड रुपए की कंपनी का मालिक बन गया है!
दृढ़ इच्छाशक्ति,एकाग्रता और नया आईडिया हो तो कैसे कोई सफलता के शिखर को छू सकता है,लुधियाना का त्रिशनित अरोड़ा उसका आज-कल का उत्तम उदाहरण है!
उसको अमेरिका की फोर्ब्स पत्रिका ने अपनी सफल 30 स्टोरी में स्थान दिया है!व इंडिया टुडे जैसी बड़ी पत्रिका ने भी उसको मुखपृष्ठ पर छापा है!
मनुष्य तू बड़ा महान है,
भूल मत!मनुष्य तू बड़ा महान है