Image may contain: 4 people, people sitting and indoor

आज बेंगलुरु में एक कॉलेज में स्वदेशी व स्वरोजगार पर बोलते हुए

1.दुनिया भर में 1,34,000 मरीजों में से 68000 ठीक होकर अपने घरों में वापस जा चुके हैं।
2.इसमें 97% के ठीक होने की संभावना है। अभी तक घोषित मरीजों में से केवल 3% की ही मृत्यु हुई है, वह भी अधिकांश 60से ऊपर।
3.चीन और दक्षिणी कोरिया में, जहां सर्वाधिक यह फैला था,अब तेजी से उतराव है, कमी आ गई है।
4.चीन के नए बनाए 13 अस्पताल में से 10 खाली हो गए हैं।14 दिन इलाज के बाद आराम पा जाते हैं
5. भारत में प्रतिदिन पांच या छह ही मरीज मिल रहे हैं और अधिकांश विदेशों से वापस लौटे हुए हैं।
6.भारत के कुल 78 मरीजों में 15 इटली के हैं 3 ठीक हो कर घर जा चुके हैं। आबादी और मरीजों की संख्या के हिसाब से हम अभी तक दुनिया में सबसे सुरक्षित हैं।
7. चीन से आए हुए 680 लोग पूरी तरह से नेगेटिव टेस्टेड व सुरक्षित होकर अपने घरों को लौट चुके हैं।
8.हमारे यहां पर इसके मरीज कम हैं व आगे भी कम ही रहेंगे,क्योंकि हम दुनिया के अन्य देशों के मुकाबले में चीन से कम जुड़े हुए हैं।(यात्री या माल दोनों मामलों में)
8. भारत सरकार की तैयारी,दूसरे देशों के मुकाबले में कहीं अधिक पुख्ता है। हमारा एक भी प्रमुख व्यक्ति कोई ग्रसित नहीं हुआ है,जबकि कनाडा,ईरान, इटली में तो राष्ट्र अध्यक्ष या उपाध्यक्ष या उनके परिवार जन ही बीमार हो गए हैं।
9.भारत में तापमान बढ़ने लगा है।जिससे इस वायरस के स्रोत खत्म होने की संभावना भी अधिक है।
10. अपने देश की इंडस्ट्री व इकोनामी पर फर्क ना पड़े,इसका सबको ध्यान करना है।
सावधानी जरूर रखें पर अफवाह अथवा जरूरत से ज्यादा प्रतिक्रिया किसी भी स्तर पर किसी को नहीं दिखानी चाहिए। सावधानियां व देसी नुस्खे यह बहुत उपयोगी हैं।
इतना ध्यान रखें

~ सतीश कुमार