चंडीगढ़ में पर्यटन विकास पर हुई कान्फ्रेंस में जम्मू कश्मीर के स्पीकर डॉक्टर निर्मल सिंह जी, डा: सुभाष शर्मा, कमल जी, अश्विन जौहर के साथ।

जबरदस्त! गुजरात में नर्मदा के तट पर बनी सरदार पटेल की विराट मूर्ति ने धमाल कर रखा है!गत 10 दिनों में ही 1.28 लाख से अधिक पर्यटक वहां आए हैं! जिससे कोई 4.25करोड़ रुपए तो केवल टिकटों के माध्यम से ही इकट्ठा हो गए हैं!
और उसके अलावा जो होटल वाले,टैक्सी वाले,खोमचे -रेहड़ी,पार्किंग वाले यह कमाई कर रहे हैं सो अलग! वहां पर उत्सव का माहौल है!हालात यहां तक है कि अधिकारियों को अपील करनी पड़ रही है कि अभी कम संख्या में आइए!
उसके कारण से उस जिले की तकदीर बदलती दिख रही है!वहां की जमीनों के भाव तेजी से बढ़ जाने से, इलाके के किसानों,वनवासियों की जमीनों की कीमत कई गुना बढ़ गई है?
मैं कल चंडीगढ़ में पर्यटन पर ही अपने CEPR द्वारा आयोजित conference में बोलने के लिए गया! जम्मू-कश्मीर विधानसभा के स्पीकर डॉक्टर निर्मल सिंह जी वहां आए थे! हिमाचल के मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर भी वहां पर आए!
मैंने वहां बोलते हुए कहा की 1985 में जम्मु वैष्णो देवी पर केवल 3 लाख तीर्थयात्री जाते थे 1986 में! राज्यपाल जगमोहन ने वैष्णो देवी का कायाकल्प कर दिया! परिणाम यह है कि 1.07करोड़ यात्री गत वर्ष वहां गए हैं!
यदि एक यात्री न्यूनतम₹ 1000 का भी खर्चा वहां करता हो तो कुल 1000 करोड़ से अधिक का अर्थ चक्र एक वर्ष,जम्मू में चला! जो वहां की समृद्धि व रोजगार का कारण बन रहा है!
जानकारी रहे कि अभी कृषि के बाद सबसे अधिक रोजगार टैक्सटाइल से और उसके बाद पर्यटन से ही आता है! टैक्सटाइल में जहां हमारा निर्यात 33 अरब डालर का है वहां पर्यटन से ही 27 अरब डालर की कमाई भी होती है!
हमें अपनी ताकत पहचाननी होगी! पर्यटन,योग,आयुर्वेद आदि वे क्षेत्र हैं जिनमें हम अभी दुनिया का नेतृत्व कर सकते हैं!
ध्येय मार्ग पर बढ़ते जाएं..
बल वैभव का युग फिर लाएं…