मंच पर भगवती जी, अनिरुद्ध देशपांडे जी, VC सुहास पेडनेकर विवेकानन्द इनसटिच्यूट के डायरेक्टर व संघ के कोंकण प्रांत (मुबंई) के संघचालक सतीश मोड़ जी व अन्य अधिकारी तथा नीचे SNDT university की वीसी प्रो:शशी व अन्य उच्च स्तर की उपस्थिति!
स्वदेशी के रोजगार पर चल रहे प्रयत्नों में आज का दिन बहुत विशेष था! जब मुंबई के प्रसिद्ध वेलिंगकर इंस्टीट्यूट में,स्वदेशी जागरण मंच व यूनिवर्सिटी ऑफ मुंबई द्वारा रोजगार के ऊपर दिनभर की कार्यशाला हुई!
‘Bridging the gap between education and employbility’ विषय पर हुई इस कार्यशाला के उद्घाटन में University of Mumbai के वीसी सुहास पेडनेकर, संघ के अखिल भारतीय संपर्क प्रमुख अनिरुद्ध देशपांडे जी,अपने डॉ भगवती प्रकाश जी,कश्मीरी लाल जी.. रहे! प्रोफेसर नेहरू और 12 विश्वविद्यालयों के कुलपति तथा कई कंपनियों के सीईओ और विद्यार्थियों ने दिन भर चिंतन मंथन किया!
कैसे इस देश के किसान की आय बढ़ाई जाए? कैसे महाविद्यालय व विश्वविद्यालय से निकलने वाले छात्रों को रोजगार सीधे मिले? कैसे स्किल के माध्यम से प्रत्येक व्यक्ति स्वरोजगार की तरफ बढ़ जाए?
इन सब विषयों पर इतना गहरा चिंतन शायद ही कभी हुआ हो!
जब दिन में छोटी टोली में बैठे तो दोनों वीसी बोले “हम तो यूनिवर्सिटी के रूटीन कामों में ही लगे रहते हैं! स्वदेशी के ऐसे प्रयत्नों में आकर लगता है कुछ ठोस कर रहे हैं!”
रोजगार पर स्वदेशी के प्रयास जारी हैं! देशभर में ऐसी कार्यशालाएं करने का विचार भी वहां टोली ने किया!