Image may contain: 3 people, people sitting

Image may contain: one or more people, people sitting and crowd

स्वदेशी जागरण मंच का उत्तर क्षेत्र व राजस्थान क्षेत्र का राष्ट्रीय विचार वर्ग कल आबूरोड माधव विश्वविद्यालय में प्रारंभ हुआ।
स्वदेशी जागरण मंच इस प्रकार के विचार वर्ग जुलाई अगस्त मास में सारे देश में करता ही है।
कैसे इस देश की गरीबी व बेरोजगारी दूर हो? ये अंतरराष्ट्रीय समझौते क्या हैं? ट्रेड वार क्या है,कैसे हमें इससे लाभ उठाना है? हमारी परिवार व्यवस्था कैसी हो?अपनी खेती कैसे विशमुक्त बने, कैसे किसान की आय 3 गुना हो? कैसे घर परिवार में स्वदेशी वस्तुओं का प्रयोग ही नहीं व्यवहार भी स्वदेशी हो?
फिर संगठन के मुद्दों की चर्चा और अपने प्रस्तावों ‘आर्थिक नीतियों में परिवर्तन का समय’ Disinvestment व “भारत को भारत कहो,इंडिया नहीं” ऐसे सब विषयों को लेकर व्यापक चिंतन मंथन और प्रबोधन इन वर्गों में होता है,हो रहा है।

तेज गर्मी में इस प्रकार के प्रशिक्षण वर्ग केवल स्वदेशी ही नहीं,विचार परिवार के बाकी संगठन भी करते हैं। कार्यकर्ता निर्माण की प्रक्रिया,ऐसे ही तपोस्थली पर होती है।अपना पैसा खर्च,समय खर्च गर्मी, सामूहिक रहना…तभी होता है श्रेष्ठ कार्यकर्ता निर्माण।
जय स्वदेशी जय भारत