गत दिनों सोनीपत में कश्मीरी लाल जी पारिवारिक कार्यक्रम में आये
“मैडम, यह महत्वपूर्ण है”और अरुण जेटली ने भारत ही नहीं, दुनिया के इतिहास की अभी तक की सबसे बड़ी स्वास्थ्य योजना ‘आयुष्मान भव’ की संसद में बजट प्रस्तुत करते हुए घोषणा कर दी! इस योजना का कुल साइज जानते हैं आप? वह है 50 लाख करोड रुपए! इसमें भारत के 10 करोड़ गरीब परिवार यानी 50 करोड़ लोग कवर होते हैं!प्रति परिवार ₹5लाख तक का स्वास्थ्य बीमा होगा!इसकी प्रीमियम राशि 50 हज़ार करोड़ होगी उसका 40%राज्यों को देना होगा..याने संभव है!
इसका थोडा अध्ययन किया तो पाया,इसकी प्रशंसा डॉ देवी शेट्टी,डॉ नरेश त्रेहन,डॉ रेड्डीआदि ने भी की है!एक बात ध्यान रखनी होगी कि यह योजना एक एटम है अगर इससे ठीक ढंग से बनाइ गयी तो परमाणु बिजली अपार बनेगी व सारे देश को लाभ होगा!और यदि यह बम बना और वह भी किसी प्रकार के दुष्ट लोगो के हाथ लग गया तो यह हमारे विनाश का भी साबित हो सकता है!
नोटबंदी,जन धन योजना व मुद्रा योजना ऐसी ही ऐतिहासिक और बड़ी योजना घोषित की मोदी जी ने! किंतु ब्यूरोक्रेसी व बीच के स्वार्थी तत्वों ने इस योजनाओं का कचूमर ही निकाल दिया!इसलिए अपेक्षित लाभ नहीं मिला!
इसलिए लोगों को,स्वदेशी प्रेमियों को जागना होगा कि कहीं यह बहुराष्ट्रीय बीमा कंपनियों के हाथ का एक और हथियार ना बन जाए! उसकी बजाय यह जन जन के स्वास्थ्य कल्याण का माध्यम बने!इसके लिए इस आयुष्मान भव योजना के प्रति समाज में जागरूकता लानी होगी तभी एक महान निर्णय का देश को पूरी तरह से लाभ मिलेगा! आपको क्या लगता है?