आज कश्मीरी लाल जी का 5 दिन का हिमाचल दौरा संपन्न हुआ और शिमला की टीम के साथ उनका चित्र! जम्मू-अखनूर के कार्यकर्ताओं के साथ, मेरा!
कुछ दिन पूर्व मुझे WhatsApp पर ही,तीन बेटियां IAS इस नाम से एक मैसेज मिला!
मुझे आश्चर्य हुआ क्योंकि IAS की मैंने लिस्ट देखी थी! उसमें तो यह नाम नहीं आए थे! बाद में जब पता किया तो पता पड़ा IAS तो नहीं किंतु RAS जरूर इन तीनों बेटियों ने एक साथ पास किया है!
राजस्थान के जयपुर के पास के स्थान की एक विधवा, गरीब मां की तीनों बेटियां,कमला, गीता व ममता! इन्होंने भरपूर मेहनत करके राजस्थान एडमिनिस्ट्रेटिव सर्विस का एग्जाम क्लियर किया है!
ना केवल उस परिवार को बहुत-बहुत बधाई! बल्कि हम सब के लिए भी यह बड़ी प्रेरणा की बात है कि यदि इच्छाशक्ति हो तो आर्थिक या पारिवारिक पृष्ठभूमि आपके बहुत आड़ में नहीं आती!
मेहनत,लगन और इच्छाशक्ति!इन तीनों से ही सफलता के द्वार खुलते हैं!कम से कम जयपुर की इन तीन बेटियों ने तो यही साबित किया है!
दंगल फिल्म का प्रसिद्ध डायलॉग आपको भी याद आया होगा “म्हारी छोरियां कहीं छोरों से कम हैं के?”

इन दिनों स्वदेशी मेला,रोजगार,पर्यावरण Flipkart-wallmart डील, राष्ट्रीय विचार वर्ग आदि विषयों की चर्चा सब स्थानों पर हो रही है!

जय स्वदेशी!