Image may contain: 4 people, people standing

Image may contain: sky and outdoor

नागपुर के संघ शिक्षा वर्ग का समापन

आज मेरा दिल्ली के संघ शिक्षा वर्ग में जाना हुआ। और 4 दिन पूर्व नागपुर में संघ का तृतीय वर्ष प्रशिक्षण पूर्ण हुआ है।संघ के इस प्रकार के वर्ग सारे देश भर में मई-जून की गर्मियों में लगते हैं।जिनमें प्रतिवर्ष हजारों कार्यकर्ता 20 दिवसीय प्रशिक्षण लेते हैं।
इधर स्वदेशी जागरण मंच का भी आबूरोड के बाद अगले सप्ताह लखनऊ के पास नैमिषारण्य में विचार वर्ग है।चार और वर्ग भी अगले 2 माह में होने हैं। बाकी के विचार परिवार के संगठन भी जून-जुलाई मास में अपने-अपने प्रशिक्षण वर्ग लगाते हैं।
मेरे से स्वदेशी के एक वरिष्ठ कार्यकर्ता पूछने लगे कि इतना लंबा (४दिवसीय स्वदेशी एजुकेटर वर्ग) प्रशिक्षण वर्ग रखना है क्या?
तो ना केवल मैंने उनको आग्रह किया कि “हां! प्रशिक्षण वर्ग होना चाहिए!” बल्कि बाद में मैंने सोचा भी सही,कि आखिर दुनिया के सबसे बड़े संगठन तंत्र याने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और उससे प्रेरित 50 से अधिक संगठनों के विशाल कार्यकर्ताओं का निर्माण आखिरकार इन प्रशिक्षण वर्गों से ही तो हुआ है।
कड़ी गर्मी! उसमें अपना पैसा,अपना समय, खर्च कर,परिवार से दूर रहते हुए भी कार्यकर्ता आते हैं।किसी प्रकार के स्वार्थ से रहित! केवल एक ही मन में विचार कि इस देश समाज की सेवा करने का जो संगठन मैंने चुना है, उस संगठन की कार्य पद्धति,विचारधारा और बारीकियों को अच्छी तरह से समझ सकूं, ताकि….
मां तेरी पावन पूजा में,
हम केवल इतना कर पाएं
कुछ कली चढ़ी,कुछ पुष्प चढ़े
कुछ समय से पहले… हमको दो वरदान यही मां!