Image may contain: 3 people
Image may contain: 4 people, sunglasses and close-up
Image may contain: 1 person, text that says "REC (-) LIVE Swadeshi satish Kumar vijay kumar kaul G 5176Palak has left the meeting Gauri Sharma Meeting details P Prof. Bhagwati Prakash Raise Raise.hand hand Turn on captions Present now"
Image may contain: 3 people, text
Image may contain: 1 person
Image may contain: 10 people
वेबीनार में बोलते हुए सुंदरम जी, भगवती जी, अश्विनी जी, नीति आयोग के डा:राजीव कुमार, प्रो:मल्होत्रा व अन्य।
आज जब 1991 की 22 नवंबर को स्वदेशी जागरण मंच का कार्य प्रारंभ हुए,ठीक 29 वर्ष पूर्ण हुए, तब आज ही स्वदेशी शोध केंद्र की स्थापना की गई है।पहले से ही चल रहे स्वदेशी थिंक टैंक को विस्तार दिया गया है।
और इस प्रक्रिया में साक्षी हुए, नीति आयोग के उपाध्यक्ष डॉ राजीव कुमार, आईसीएसएसआरके प्रोफेसर वीके मल्होत्रा,अपने सुंदरम जी, प्रोफेसर भगवती प्रकाश जी, डॉ अश्विनी महाजन जी, व 100 के लगभग अर्थशास्त्री, रिसर्चर व स्वदेशी के कार्यकर्ता।
देश और दुनिया की बदल रही परिस्थिति में शोध आधारित नीतियां ही सर्वमान्य होंगी। स्वदेशी यद्यपि पहले से ही शोध के आधार पर ही अभियान चलाता है फिर भी एक बड़े थिंक टैंक (रिसर्च सेंटर) की आवश्यकता कई वर्षों से महसूस हो रही थी जिसका आज श्रीगणेश हो गया।
विश्वास है कि न केवल स्वदेशी आंदोलन को इससे एक नई धार मिलेगी, अपितु लघु उद्योगों, किसानों, पर्यावरण विदों, नीति निर्माताओं को इस शोध केंद्र से काफी सहायता भी मिलेगी।
देश की स्वदेशी से जो अपेक्षाएं हैं, वह पूरी करने में भी स्वदेशी के कार्यकर्ता तन मन लगाएंगे ही। प्रोफेसर विजय कौल, सीए विजय गोयल, प्रो: प्रदीप चौहान प्रो: सुरेंद्र गोयल (DSE), प्रो:अशोक सरयाल (पूर्व वीसी) सीए राजीव सिहं व अन्य ने कार्यक्रम का संचालन किया।
दत्तोपंत ठेंगड़ी जन्म शताब्दी वर्ष में उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने का एक उत्तम तरीका भी यही है। ~सतीश कुमार