डॉक्टर जेनीफर हॉलर पर वैक्सीन ट्रायल करते हुए

हाल ही में अमेरिका में कोरोना के वैक्सीन के लिए ट्रायल किया गया है। और जिस पहले व्यक्ति पर यह ट्रायल हुआ है, उसका नाम है जेनिफर हॉलर।
जब जेनिफर ने फेसबुक पर एक पोस्ट में देखा कि कोरोना वेक्सिन की रिसर्च के लिए वॉलंटियर चाहिए तो उसने एप्लाई कर दिया।
अमेरिका के एक इंस्टीट्यूट में 45 वॉलंटियर्स पर यह ट्रायल हो रहा है और उन्हें 1 महीने के अंतराल पर वैक्सीन के 2 डोज दिए जाएंगे। फिर डोज के रिएक्शन के आधार पर यह रिसर्च आगे बढ़ेगी।
डॉ. लीजा जैक्सन इस रिसर्च को लीड कर रहीं हैं।

जेनिफर दो बच्चों की मां है। उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया “हम सभी असहाय महसूस कर रहें हैं। यह मेरे लिए कुछ कर पाने का एक बेहद बढ़िया माैका है। मेरे दोनों बच्चे सोचते हैं कि मेरा इस रिसर्च प्रोजेक्ट में हिस्सा लेना बहुत अच्छा काम है।”

हालांकि आमतौर पर ऐसे ट्रायल पहले चूहों एवं अन्य जानवरों पर किए जाते है, उसके बाद ये मानव शरीर पर किया जाता है।
जेनिफर और उनके साथ के अन्य वॉलंटियर्स इतिहास का हिस्सा बनने जा रहें हैं। इस वैश्विक आपदा के समय लड़ाई में फ्रंट पर भेजे गए पहले सैनिक।
हिमाचल प्रदेश की एक बहन शैलजा चंदेल ने भी अपने शरीर पर वैक्सीन ट्रायल के लिए पेशकश की है।
यही शुभकामना है कि इन लोगो का त्याग सफल हो, और इस ट्रायल के सुखद परिणाम आएं।