Image may contain: 3 people

चंडीगढ़ में कल स्वदेशी जागरण मंच का विचार वर्ग हुआ व नई इकाई भी घोषित हुई। एक अच्छी,युवा व उच्चशिक्षित टीम को शुभकामनाएं

मेरा भांजा विश्रुत अमेरिका में है।आज वह मेरे से फोन पर पूछ रहा था “मामा जी बंगाल में क्या हो रहा है? वहां पर अपनी ताकत कैसे बढ़ रही है? तो सोचा आज बंगाल के बारे में ही अपने पाठकों से बात की जाए।
पिछले 2 दिन से सारे टीवी चैनल पश्चिम बंगाल की खबरों के बारे में छाए हुए हैं। ममता बनर्जी धरने पर है। 2 दिन पूर्व जब प्रधानमंत्री वहां गए तो अनुमानित संख्या से कहीं अधिक उपस्थिति वहां हुई।
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी जोकि तुष्टीकरण,
वोट बैंक की राजनीति, तथा हिंदुत्ववादी ताकतों पर गत 4 वर्षों से लगातार प्रहार, कर रही हैं। उसके खिलाफ इस समय सारा बंगाल उमड़ रहा है।
ममता बनर्जी को ही नहीं,बल्कि स्वयं भाजपा वालों को भी यह समझ नहीं आ रही की इतनी भीड़ कैसे, भाजपा की रैलियों में आ रही है।
वास्तव में स्वामी विवेकानंद,सुभाष बोस की इस भूमि पर जहां जनसंघ के संस्थापक डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने मेहनत की, वहां पर हिंदुत्व के,राष्ट्रीयता के बीज बोए…आज वह फलने फूलने लगे हैं आजादी के 72 वर्ष बाद ही क्यों ना हो, पश्चिम बंगाल में हिंदुत्व का सूर्य उदय हो रहा है ।
पश्चिम बंगाल में संघ, विद्याभारती, विद्यार्थी परिषद मजदूर संघ, स्वदेशी जागरण मंच.. इन सब के कार्यक्रमों में भी उपस्थिति लगातार बढ़ रही है।

परिवार संगठनों की ताकत लगातार बढ़ रही है। इससे लगता है कि बंगाल में भगवा सुनामी उफान पर है,जिसमें सब मुस्लिम,तुष्टीकरणवादी व भ्रष्टाचारी तत्व बह जाने वाले हैं…वंदे मातरम।