Who is Sundar Pichai and what does Alphabet do? - BBC News

Image may contain: 1 person, smiling, glasses

Image may contain: 1 person, smiling, close-up

Image may contain: 1 person, smiling, text that says ".Sunita Williams"

गूगल के सुंदर पिचई , माइक्रोसॉफ्ट के सत्यम नडेला, पैप्सिको की इंदिरा नूई व अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स।

एनआरआई हैं भारत की शान व समृद्धि का कारण। मेरे से एक बार एक कार्यकर्ता ने पूछा “सतीश जी! हमारे अच्छे-अच्छे इंजीनियर, डॉक्टर अमेरिका आदि में जाकर बड़े-बड़े ओहदों पर बैठ जाते हैं।इन पर हमें गर्व होना चाहिए या शर्म?”

मैंने कहा “अगर गांव का लड़का शहर में जाकर अच्छी कमाई करता है और वहां से गांव के लिए पैसे भी भेजता है और गांव के विकास में भी सहयोग करता है तो उस पर गर्व ही होना चाहिए।”
अभी 3 दिन से यह समाचार दुनिया भर में छाया है कि कानपुर आईआईटी के ग्रेजुएट सुंदर पिचई अब गूगल की पैरंट कंपनी अल्फाबेट के सीईओ हो गए हैं। दुनिया की 3 सबसे बड़ी कंपनियों एप्पल, माइक्रोसॉफ्ट और गूगल इनमें से दो के सीईओ भारतीय हैं। दुनिया के सबसे समृद्ध देश व महाशक्ति अमेरिका में तो विशेषकर भारतीय छाए हैं। चाहे वहां का नासा हो, चाहे हाई टेक्नोलॉजी कंपनियां या फिर वहां के होटल, मोटल।

यही नहीं दुनिया भर में फैले एनआरआई यह भारत के सांस्कृतिक राजदूत भी हैं। और भारत की समृद्धि व शान का कारण भी। क्योंकि वे लगभग 70 बिलियन (अरब) डॉलर हर वर्ष भारत में भेजते हैं जो कि भारत का सबसे बड़ा आय का स्रोत भी है। वास्तव में हम भारतीयों का डीएनए इतना उत्तम है कि हम दुनियाभर को चला सकते हैं। इतिहास में भी हम ऐसा करते रहे हैं।

पुराना गीत याद आ रहा था…
“विश्व में गूंजे हमारी भारती, जन-जन उतारे आरती!
धन्य देश महान…धन्य हिंदुस्तान।”