Image may contain: 4 people

Image may contain: 2 people

पुणे में स्वदेशी जागरण मंच की राष्ट्रीय बैठक का मंच व सामने कार्यकर्ता समूह

आज पुणे में स्वदेशी जागरण मंच की राष्ट्रीय परिषद की बैठक प्रारंभ हुई।महर्षी कर्वे, जिन्होंने स्त्री शिक्षण में देशव्यापी योगदान के कारण भारत रत्न प्राप्त किया, उन्ही की संस्था में हो रही यह बैठक स्वदेशी के देशभर से आए कार्यकर्ताओं में चिंतन-मंथन व उत्साह का संचार कर रही है।
कैसे पश्चिमी विकास मॉडल से बदलकर स्वदेशी विकास मॉडल उभरे? कैसे पर्यावरण हितैषी व भारतीय संस्कारों से युक्त, कृषि-ग्रामीण उन्मुखी आर्थिक संरचना और वैभव संपन्न देश बने?
जिसमें सबको रोजगार व सबको उच्च जीवन यापन करने की स्थिति हो। ऐसे विकास मॉडल की खोज करने यहां एकत्र हुए हैं 115 से अधिक कार्यकर्ता।
राष्ट्रऋषि दत्तोपंत ठेंगड़ी की जन्म शताब्दी वर्ष में क्या स्वदेशी आंदोलन सारे देश को व्याप्त कर एक नई दिशा दे सकेगा? चिंतन मंथन जारी है…..
जय स्वदेशी-जय भारत!