No photo description available.

Image may contain: 1 person

Image may contain: 5 people

ग्वालियर में चल रही प्रतिनिधि सभा में कल रात, शिवाजी राज्याभिषेक की नाटिका का मंचन हुआ। भारत के सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल व पलवल में अमरसिंह विभाग संयोजक के भाई के विवाह में कमलजीत जी व बद्रीप्रसाद जी के साथ

दो दिन पूर्व दिल्ली में कुछ कार्यकर्ताओं के साथ चर्चा हो रही थी।विषय निकला, कि सर्जिकल स्ट्राइक हुई या फिर एयर स्ट्राइक दोनों ही बार दुश्मन का तो पूरा नुकसान हुआ, किंतु अपना नुकसान शून्य रहा। यह स्पष्ट व बारीकी से की गई योजना के कारण से ही संभव हुआ।
यही नहीं अमेरिका से लेकर इंग्लैंड तक ईरान से लेकर चीन तक, सारी दुनिया में सम्पर्क कर सुषमा स्वराज से लेकर अजीत डोभाल तक.. इन्होंने ऐसा दबाव बनाया की ना केवल हमारे पायलट अभिनंदन को 2 दिन में छोड़ना पड़ा, बल्कि कल जैशे मोहम्मद के 40 लोग (आतंकवादी) उनको गिरफ्तार भी करना पड़ा। हाफिज सईद के संगठनों पर भी प्रतिबंध लगाना पड़ा पाकिस्तान इस समय पर बुरी तरह से घिरा है।
वहीं भारत के विपक्षी दल जिन्हें देश समाज से अधिक केवल राजनीति सूझती है,अब बैकफुट पर हैं।
सबूत मांगने वाले 2 दिन से चुप हो गए हैं,क्योंकि खबर आ गई है कि 80% स्ट्राइक के सबूत सरकार के पास हैं। घरेलू मोर्चे पर अवसरवादी विपक्षी राजनीतिक दलों को संभालना हो अथवा वैश्विक राजनीति, भारत सफल रणनीति करके अपनी बढ़त बना गया है।