No photo description available.

सुप्रीम कोर्ट से चिर प्रतिक्षित निर्णय आ गया। 77 संघर्षों मे वीरगति प्राप्त 3 लाख 76 हजार रामभक्तों का बलिदान सफल हुआ।सारा जन्मभूमि स्थल, राममंदिर हेतु घोषित
इस हेतु हुए सैकड़ों आदोंलनों मे लाखों भारतीयों के द्वारा सहे कष्ट साकार हुए।

विश्व हिंदू परिषद, हजारों संत, संघ परिवार जिन्होंने अतिम अभियान का नेतृत्व किया… वे सब बधाई के पहले हकदार हैं। स्वदेशी चिट्ठी के पाठकों को भी कोटिशः बधाइयाँ व शुभकामनाएँ!
संपूर्ण रामराज्य की तरफ प्रस्थान का समय… गरीबी मुक्त, रोजगार व सम्पन्नता युक्त भारत,बनाने का शुभ महुर्त..