स्वदेशी जागरण मंच (एसजेएम) ने शुक्रवार को खर-पतवारनाशक ग्लाइफोसेट के उपयोग पर प्रतिबंध की मांग की और कृषि मंत्रालय से इस खर-पतवारनाशक के नियंत्रित उपयोग से संबंधित अधिसूचना वापस लेने का आग्रह किया । मंत्रालय ने 8 जुलाई को जारी अधिसूचना के मसौदे में ग्लाइफोसेट के नियंत्रित उपयोग (केवल कीटनाशक परिचालकों द्वारा) की अनुमति दी थी।

स्वदेशी जागरण मंच ने कहा कि अधिसूचना को ध्यानपूर्वक तैयार नहीं किया गया है और ग्लाइफोसेट का उपयोग केवल कीटनाशक परिचालकों के माध्यम से करने से करना निरर्थक होगा क्योंकि इसे लागू करना और अवैध कार्यो पर रोक लगाना असंभव होगा।

मंच के राष्ट्रीय सह-संयोजक अश्विनी महाजन ने कहा, ‘‘ हमने स्पष्ट तौर पर इस पर आपत्ति व्यक्त की है कि ग्लाइफोसेट के नियंत्रित उपयोग की संकल्पना सही नहीं है और भारत में ग्लाइफोसेट पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने की जरूरत है।’’ उन्होंने कहा कि ग्लाइफोसेट का उपयोग देश के लिये आर्थिक रूप से विनाशकारी होगा। इससे रोजगार खत्म होगा और गरीब परिवारों के आय का स्रोत समाप्त हो जायेगा।

महाजन ने कहा कि ग्लाइफोसेट से मिट्टी, पानी दूषित होगा और उपयोगी पौधों की प्रजाति खत्म होगी । यह रसायन अमेरिका में विभिन्न वादों का सामना कर रह है।

 

Source Link