Image may contain: 1 person, sitting

Image may contain: 4 people

Image may contain: 2 people, people smiling

मनोज तिवारी,शीला दीक्षित से आशीर्वाद लेते हुए और एक विद्यार्थी बाबा रामदेव से आशीर्वाद लेते हुए!व जम्मू में भैया-भाभी।

अभी 7 दिन पहले सभी अखबारों में यह फोटो छपा जिसमें दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी जो संसदीय चुनाव में विजयी हुए,चुनाव के बाद वे उन्हीं कांग्रेस की शीला दीक्षित(जिनके विरूद्ध चुनाव लड़ा)से आशीर्वाद लेने के लिए गए,क्योंकि वे उम्र में व अनुभव में काफी बड़ी हैं।

अपना नामांकन भरने के बाद मोदी जी ने प्रकाश सिंह बादल के पैर छुए ही थे व आडवाणी मुरली मनोहर जोशी जी से जीतने के बाद भी आशीर्वाद लेने गए थे।

वास्तव में परिवार हो सामाजिक संगठन हो या फिर राजनीतिक दल।उनको अच्छे ढंग से चलाने के लिए आवश्यक शालीनता,विनम्रता जरूर चाहिए।
परिवार या दल यह किन्ही सिद्धांतों के कारण या बड़ी बातों के कारण ही नहीं टूटते,बल्की छोटे-छोटे व्यवहारिक मुद्दों, जैसे ऊंचा बोलने, व्यंग करने, अपने को बड़ा दिखाने,गलती छिपाने जैसे छोटे छोटे कारणों से भी टूटते हैं। ऐसे में आवश्यक है कि विनम्रता और शालीनता यह हर एक को,हर स्तर पर बनाए रखना चाहिए।
तभी कोई परिवार, संगठन या राजनीतिक पार्टी सफल हो सकती है।
बच्चों को तो यह संस्कार देने ही चाहिएं, अपने उदाहरण से भी हमें यह प्रस्तुत करना चाहिए।